आंखों में आंसू आने का क्या होता है कारण, कैसे आते हैं आंसू ?

Spread Your News

NewsAgenda24, Health Desk

इंसान कभी खुशी में तो कभी गम में रोने लगता है. रोने के कारण ही आंखों से आंसू आने लगते हैं लेकिन रोने के पीछे विज्ञान काम करता है. इंसानों के आंखों से आंसू किसी दुख, परेशानी या बेहद खुशी के मौके पर ही नहीं आते हैं, बल्कि ये किसी खास गंध या चेहरे पर तेज हवा के लगने के वजह से भी आते हैं .

हमारे आंखों से आंसू क्यों और कैसे आते हैं?

आंखों से आंसू आने को लेकर सबके अपने-अपने तर्क हो सकते हैं.  वैजानिकों ने आंसुओं को तीन श्रेणियों में विभाजित किया है. पहली श्रेणी है बसल जोकि नॉन-इमोशनल आंसू होते हैं ये आंसू आंखों को सूखा होने से बचाते हैं और आंखों को स्वस्थ रखने का काम करते हैं.  दूसरी श्रेणी में भी वैज्ञानिकों ने  नॉन-इमोशनल आंसुओं को रखा है.  इन आंसुओं के आने का कारण कोई गंध होती है. जैसे फिनाइल या फिर प्याज काटने पर आती है.

वैज्ञानिकों ने आंसुओं को मुख्य रूप से तीन श्रेणी में बांटा है। पहली श्रेणी है बेसल। ये नॉन-इमोशनल आंसू होते हैं, जो आंखों को सूखा होने से बचाते हुए स्वस्थ रखते हैं। दूसरी श्रेणी में भी नॉन-इमोशनल आंसू ही आते हैं। ये आंसू किसी खास गंध पर प्रतिक्रिया से आते हैं, जैसे प्याज काटने या फिनाइल जैसी तेज गंध पर आने वाले आंसू। आंसुओं की तीसरी श्रेणी पर हमेशा चर्चा होती रहती है। इसे क्राइंग आंसू कहते हैं।

बता दें कि क्राइंग आंसू भावनात्मक प्रतिक्रिया के तौर पर आते हैं। इंसान के मस्तिष्क में एक लिंबिक सिस्टम होता है, जिसमें ब्रेन का हाइपोथैलेमस होता है। यह हिस्सा नर्वस सिस्टम से सीधे संपर्क में रहता है। इस सिस्टम का न्यूरोट्रांसमिटर संकेत देता है और किसी भावना के एक्सट्रीम पर हम रो पड़ते हैं। इंसान केवल दुख में ही नहीं, बल्कि गुस्सा या डर होने पर भी रोने लगता है।

cryi

आखिर इंसान रोता क्यों है?

मनुष्य का रोना नॉन-वर्बल संवाद का एक तरीका है। आंसुओं के जरिए इंसान ये बताता है कि हमें मदद की जरूरत है। बता दें कि मनोवैज्ञानिक इस बात पर लगातार जोर देते हैं कि भावनाओं के उबाल में रोना अच्छा होता है। इससे आंखें ही नहीं, बल्कि हमारा मानसिक स्वास्थ्य बेहतर रहता है।

नॉन-वर्बल संवाद का सबसे सही उदाहरण नवजात बच्चे होते हैं। बच्चे जब भाषा नहीं जानते हैं, तो रोने के माध्यम से नॉन-वर्बल संवाद करते हैं और अपनी जरूरतों को बताते हैं।

 

 

 

 


Spread Your News
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.