LOCK LOTUS POSE: हर रोज करें बद्ध पद्मासन, टेंशन में भी रहोगे कूल

Spread Your News

न्यूजएजेंडा24.कॉम हेल्थ ब्यूरो (अमित योगाचार्य)।

क्या आपको भी मूड स्विंग की समस्या है? क्या आपको भी किसी बात को लेकर पल में गुस्‍सा और पल में पछतावा होता है? पहले छोटी सी बात पर ही बहुत परेशान हो जाना, ‍फि‍र वही बात गैरजरूरी लगने लगना। असल में ये सभी मानसिक अस्थि‍रता के संकेत हैं। क्षमता से अधिक कार्य करने या अति महत्‍वकांक्षी होने पर इन समस्‍याओं का सामना करना पड़ सकता है। अगर आप भी हैं मानसिक अस्थिरता से परेशान, तो बद्ध पद्मासन आपकी मदद कर सकता है।

क्‍या है बद्ध पद्मासन (LOCKED LOTUS POSE) : ‘बद्ध पद्मासन’ संस्कृत का एक शब्द है, जिसमें ‘बद्ध’ का अर्थ ‘बाध्य या बंद’ हैं और ‘पद्मा’ का अर्थ ‘कमल का फूल’ और “आसन” जिसका अर्थ “मुद्रा” होता हैं। बद्ध पद्मासन को अंग्रेजी में “लॉक लोट्स पोज़” के रूप में भी जाना जाता हैं, क्योंकि इस आसन में आपका शरीर एक बंद कमल के सामान हो जाता हैं। बद्ध पद्मासन एक ध्यान हैं जो के शारीरिक और मानसिक स्थिरता बनाये रखता हैं।

बद्ध पद्मासन मुद्रा (LOCKED LOTUS POSE) में ध्यान समर्पण (अमित योगाचार्य) https://www.instagram.com/01yogatravel/ 

बद्ध पद्मासन (LOCKED LOTUS POSE) करने की विधि‍ : बद्ध पद्मासन करने के लिए सबसे पहले आप फर्श पर पद्मासन या कमल की मुद्रा में बैठ जाएं, इसके लिए आप अपने दायें पैर को बाएं जांघ पर रखे और बाएं पैर को दाएं जांघ पर रखें, यह एक शास्त्रीय क्रॉस पैर वाली लोटस मुद्रा हैं। इसके बाद अपने दोनों हाथों को पीछे की ओर ले जाएं विपरीत स्थिति में अपने अंगूठों को पकड़े अर्थात अपने दाएं हाथ से बाएं पैर के अंगूठे को पकड़े और बाएं हाथ से दाएं पैर के अंगूठे को पकड़ें। अधिकांश लोगो को पहली बार इस मुद्रा को करने में पैर के अंगूठे को पकड़ने में कठिनाई होती हैं तो वो लोग एक महीने तक अर्द्ध पद्मासन बद्ध (Half Lotus) के साथ अभ्यास कर सकते हैं।

मल्लिका शेरावत ने 45 की उम्र में बढ़ाया इंटरनेट का पारा, बिकीनी में शेयर की तस्वीरें

बद्ध पद्मासन (LOCKED LOTUS POSE) में सावधानियां:

  1. बद्ध पद्मासन में अपनी रीढ़ की हड्डी और सिर को एक सीधी रेखा में रखें।
  2. इसमें आप आंखों को बंद या खुला भी रख सकते हैं।
  3. आप इस मुद्रा में कम से कम 30 सेकंड या इससे अधिक जब तक आप रह सकते हैं रहने का प्रयास करें।
  4. अपनी सांस को सामान्य रखें।
  5. इसके बाद आप अपने हाथों को छोड़ के पैर के लॉक को खोल दें, और धीरे-धीरे अपनी प्रारंभिक स्थिति में आ जाएं।

LOCKED LOTUS POSE के लाभ: बद्ध पद्मासना हमारी मानसिक और शारीरिक स्थिरता को बढ़ता हैं जिससे दिमाग शांत रहता हैं और मानसिक शांति का अनुभव होता हैं। यह मुद्रा हमारे मस्तिष्क की ओर बहने वाली धारा का एक निश्चित प्रवाह बनाता हैं जो कि हमारे मन को शांत रखता हैं, बद्ध पद्मासन योग हमारे मन को ध्यान का उच्च अभ्यास करने के लिए फिट बनाता हैं।

ट्रांसपेरेंट पैंट पहनकर उर्फी जावेद होटल में पहुंच गई, देखकर लोग हुए हैरान

LOCKED LOTUS POSE में बरतें ये सावधानियां

  1. अगर आपके घुटनों में दर्द रहता है या हाल ही में घुटनों की सर्जरी हुई है तो इस मुद्रा का अभ्यास न करें।
  2. बद्ध पद्मासन उन लोगों को नहीं करना चाहियें जो लोग पीठ दर्द और कन्धों के दर्द से परेशान रहते हैं।
  3. यदि आपके पैर में मोच हैं तो आप इस मुद्रा का को न करें।
  4. गर्भवती महिलाओं को बद्ध पद्मासन नहीं करना चाहियें।

NOTE: दिन की बेहतर शुरूआत के लिए जरूरी है कि पिछली रोज की टेंशन को भूल जाएं। तभी आप नई चुनौतियों और परफॉर्मेंस के लिए तैयार हो पाएंगे। सभी प्रकार के आसन का अभ्यास और प्रदर्शन योगा शिक्षक के सामने करें। ज्यादा जानकारी के लिए ध्यान समर्पण +919999872980 पर संपर्क करें। आप इंस्टाग्राम पर https://www.instagram.com/01yogatravel/ भी फॉलो कर सकते हैं।


Spread Your News
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.