CCF Tea: धनिया, सौंफ और जीरे की चाय करेगी हर समस्या का समाधान

Spread Your News

ये बात तो हम और आप अच्छे से जानते हैं कि सेहत के लिए हर्बल टी, मिल्क टी से अधिक फायदेमंद होती है। हर्बल टी डायटीशियन और हेल्थ एक्सपर्ट्स की भी पहली पसंद होती है। आयुर्वेद में तो हर्बल टी को औषधि समान माना जाता है।

आयुर्वेद औषधि है धनिया, सौंफ और जीरे की चाय

अदरक, तेज पत्ता, मुलेठी और तुलसी से बनी हर्बल टी के बारे में आपने सुना होगा, लेकिन क्या आप जानते हैं कि धनिया से भी चाय बनती है। साबुत धनिया के बीज की चाय पीने से कई बीमारियां दूर हो सकती हैं। आप सौंफ या अजवायन के जरिए इसे बना सकते हैं। इसके अतिरिक्त आप इसे बनाने में एक नींबू, अदरक और शहद (कफ के लिए), गुलाब की पंखुड़ियां या ताजा पुदीना भी डाल सकते हैं। ये आपके लिए एक पसंदीदा सीसीएफ टी होगी, जो कि पेट की सफाई और पाचन स्वास्थ्य के लिए एक आयुर्वेदिक क्लासिक है।

यह स्वादिष्ट चाय शरीर के टॉक्सिन्स यानी विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने, पाचन अग्नि (digestive fire) को बढ़ाने और गैस, सूजन (Bloating), ऐंठन (Cramping), अपच (Indigestion), हाइपरएसिडिटी, कब्ज (Constipation), loose stools यानी पतले मल के अलावा पाचन संबंधी समस्या को कम करने के लिए एकदम सही ड्रिंक है।

आयुर्वेदिक एक्सपर्ट से जानिए सीसीएफ टी के फायदे

कैसे बनाएं हर्बल टी?

कोच ने इसे बनाने के लिए निर्धारित सामग्री भी बताई है। नीचे दी गई सामग्री को आप पानी में उबालकर बना सकते हैं।

एक चम्मच जीरा (Cumin)

एक चम्मच साबुत धनिया के बीज (Coriander)

एक चम्मच सौंफ (Fennel)

1 लीटर पानी

एक्सपर्ट के अनुसार, यह पाचन की सफाई करने करने वाला आयुर्वेदिक (Ayurvedic digestive cleansing) अमृत (elixir) है। आप इसका डेली सेवन कर सकते हैं और परिणाम भी देख सकते हैं। वहीं, यदि आप एक मजबूत पित्त असंतुलन से पीड़ित हैं, तो आप जीरा को ½ छोटा चम्मच तक कम कर सकते हैं।

CCF Tea के कलेक्टिव हेल्थ बेनिफिट्स

  1. इसे पीने से पाचक अग्नि (digestive fire) बढ़ती है और शरीर के सभी दोषों को बैलेंस करके नसों को  भी शांत रखती है।

2. रोजाना सेवन से पोषक तत्वों का अवशोषण (absorption of nutrients) बढ़ता है और हमारे सिस्टम को डिटॉक्सीफाई करती है। ऊतकों (tissues) से विषाक्त पदार्थों (toxins) को बाहर निकालती है।

3. सूजन और गैस की समस्या से बचाव करती है और फेफड़ों में जमाव (congestion) को दूर करती है।

4. मासिक धर्म की अनियमितताओं (menstrual irregularities) को दूर करती है और पीएमएस के लक्षणों (PMS symptoms) को कम करने में सहायक है और यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन से राहत दिलाती है।


Spread Your News
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.