दुष्यंत चौटाला किस उद्योग के लिए दे रहे हैं आर्थिक मदद, आप भी लगा सकते हैं ऐसे उद्योग?

Spread Your News

NEWSAGENDA24, SONIPAT DESK

गौशालाओं को आत्मनिर्भर बनाने पर हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने बल दिया है। उन्होंने कहा कि इसके लिए गौशालाओं में लघु उद्योगों की स्थापना की जानी चाहिए, जिससे गौशाला की खुद की आमदनी हो सके। दरअसल उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला आज सोनीपत की मुंडलाना गौशाला पहुंते थे। इस दौरान  उन्होंने मुंडलाना गौशाला को भी इस दिशा में आगे बढ़ाने के लिए प्रोत्साहन देते हुए घोषणा की कि लघु उद्योग स्थापित करने के लिए आर्थिक मदद सरकार देगी। उपमुख्यमंत्री ने बतौर मुख्य अतिथि ध्वजारोहण के साथ श्री कृष्ण वासुदेव गौशाला मुंडलाना के वार्षिकोत्सव का शुभारंभ किया।


डिप्टी सीएम ने हिसार और पिंजौर की गौशालाओं का उदाहरण देते हुए कहा कि अब गौशालाओं को स्वयं की आय अर्जन की ओर आगे बढ़ाना होगा। उन्होंने कहा कि हिसार के लाडवा की गौशाला साबुन व सर्फ बनाती है और गौमूत्र की पैकिंग भी कर बिक्री करती है। इसी तरह पिंजौर गौशाला में गौमूत्र व गोबर से पेंट बनाया जाता है। उन्होंने कहा कि वे नया गांव में बायोगैस प्लांट की स्थापना का सफल प्रयोग कर चुके हैं, जिससे निर्मित गैस से पूरे गांव को आपूर्ति की जाती है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि मात्र 30 रुपये मासिक में एक घर को गैस की आपूर्ति दी जाती है और गांव के हर घर में पाइपलाइन के सहारे गैस पहुंचाई गई है। सुलर गांव में भी बायोगैस प्लांट स्थापित करवाया गया।

उपमुख्यमंत्री चौटाला ने प्रोत्साहन दिया कि मुंडलाना गौशाला में भी बायोगैस प्लांट लगवाएं। इस दिशा में यह गांव एक आदर्श गांव के रूप में स्थापित हो। इसके लिए एक कमेटी का गठन किया जाए जो कि हिसार व पिंजौर आदि गौशालाओं का अध्ययन कर लघु उद्योग की ओर कदम बढ़ाएं। उन्होंने कहा कि लघु उद्योग स्थापना के लिए पैसा वे देंगे। यहां गौवंश भी है और जमीन भी है। ऐसे में यहां संभावनाएं अपार हैं। उन्होंने गौशाला में शैड निर्माण की मांग को भी सहर्ष स्वीकारा। साथ ही उन्होंने कहा कि पेयजल की आपूर्ति के लिए ट्यूबवेल स्थापित करवाया जाएगा। पशु अस्पताल की स्थापना की मांग पर उन्होंने कहा कि वे जांच कराएंगे, यदि नजदीक ही कोई पशु अस्पताल नहीं होगा तो इसकी स्थापना यहां करवाएंगे। इससे पहले उपमुख्यमंत्री ने मुंडलाना स्थित श्री कृष्ण वासुदेव गौशाला में नव-निर्मित मंदिर का भी लोकार्पण किया। उन्होंने गौशाला परिसर में स्थापित बाबा रामकिशन की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें नमन भी किया। इस मौके पर आयोजित रक्तदान शिविर का अवलोकन करते हुए उन्होंने रक्तदाताओं को प्रोत्साहित करते हुए नियमित रूप से रक्तदान पर बल दिया। साथ ही उन्होंने कहा कि कोई एक व्यक्ति अथवा संस्था से गौशाला का संचालन नहीं कर सकते। इसके लिए समाज का सहयोग अपेक्षित है इसलिए सभी गौशालाओं के संचालन में सामर्थ्य अनुसार हर संभव सहयोग दें।

उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने अधिवक्ताओं से आह्वान किया कि वे समाज कल्याण की दिशा में स्वयं को एक उदाहरण के रूप में स्थापित करें। इसके लिए हर अधिवक्ता संकल्प लें कि वह गरीब लोगों की कानूनी लड़ाई लड़ने के लिए कोई पैसा नहीं लेगा। जरूरतमंदों का कम से कम एक मुकदमा निशुल्क रूप से लडेंगे। वे गन्नौर बार एसोसिएशन के अभिनंदन समारोह में उपस्थित बार सदस्यों को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे।
Congress ने कब लगाई थी ‘शर्त’ जिसकी वजह से बुजुर्गों की pension पर चली ‘कैंची’? बता रहे हैं डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला
दुष्यंत चौटाला ने कहा कि अधिवक्तागण एक बड़ी सामाजिक जिम्मेदारी निभाते हैं, जिसके तहत वे लोगों की हर प्रकार की छोटी-बड़ी समस्याओं का समाधान करवाते हैं। इस दिशा में उन्हें एक कदम ओर आगे बढ़ाना चाहिए, जिसके अंतर्गत उन्हें गरीब लोगों के कानूनी मुद्दों को मुफ्त में लड़नी चाहिए। यह ऐसी मिसाल बने कि अन्य बार एसोसिएशनों के सदस्य भी इसका अनुकरण करें।

उपमुख्यमंत्री ने मॉडर्न लाइब्रेरी के निर्माण की मांग को स्वीकार करते हुए हिसार बार की लाइब्रेरी के अनुकरण पर बल दिया। उन्होंने कहा कि लाइब्रेरी में पुस्तकों के साथ ई-लाइब्रेरी की सुविधा भी होनी चाहिए। डिजिटल लाइब्रेरी समय की मांग है। साथ ही रिसर्च सेंटर व कोचिंग की सुविधा भी आवश्यक है। इसके लिए 9-10 लाख रुपये की जरूरत होगी जो वें देंगे। साथ ही उन्होंने इंटरनेट की आवश्यकता को भी स्वयं संज्ञान में लेते हुए कहा कि पूरी बार तथा चैम्बरों को वाई-फाई की सुविधा दी जाएगी। इसके लिए उन्होंने बजट बनाकर प्रेषित करने के निर्देश दिए। डिप्टी सीएम ने भरोसा दिया कि वे अधिवक्ताओं को हर संभव मदद सरकार की ओर से दिलवाएंगे। यदि किसी अधिवक्ता साथ के साथ कोई अनहोनी होती है तो बार प्रधान केस बनाकर भेजे, जिसमें सरकार की ओर से आर्थिक सहायता दी जाएगी।

पत्रकारों के सवाल का जवाब में उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि खरखौदा स्थित आईएमटी में 900 एकड़ भूमि पर भारत की सबसे बड़ी मोटर वाहन कंपनी मारुति अपना कारखाना लगाने जा रही है। जिसके लगने से यह क्षेत्र आने वाले दिनों में औद्योगिक क्षेत्र बनकर भारत में अपनी अलग पहचान बनाएगा। उन्होंने कहा कि मारुति के साथ-साथ अनेक और भी मल्टीनेशनल कंपनियां यहां आने में अपनी दिलचस्पी दिखा रही है। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि यहां पर औद्योगिक हब बनने के बाद रोजगार के लाखों अवसर पैदा होंगे जिससे यहां के युवाओं की जिंदगी में परिवर्तन आ जाएगा क्योंकि उन्हें अपने घर के पास ही अच्छी नौकरी मिल जाएगी। उपमुख्यमंत्री बुधवार को हरियाणा सरकार में चेयरमैन पवन खरखौदा के भतीजे की बिमारी के चलते हुए निधन पर शोक सभा में शामिल होकर शोक संतप्त परिवार को ढांढस बंधाने उनके घर खरखौदा पहुंचे थे।


Spread Your News
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.