अगस्त के आखिर में सरसाें, चना और मूंगफली की बुवाई करें किसान, बढ़ेगी आमदनी

Spread Your News

न्यूजएजेंडा24.कॉम ब्यूरो, हिसार। अगस्त के अंत और पूरे सितंबर माह में मूंगफली, तोरिया, सरसों, बरसीम, चना, मक्का की उन्नत किस्मों की बुवाई और उचित देखभाल कर प्रदेश के किसान अधिक आमदनी कमा सकते हैं। एचएयू के वैज्ञानिक किसानों को सितंबर में बोई जाने वाली उन्नत किस्मों की जानकारी दे रहे हैं। एचएयू के कुलपति प्रोफेसर बीआर काम्बोज ने बताया कि प्रदेश के किसानों को गोष्ठी और ऑनलाइन माध्यम से फसलों और उनकी देखभाल के बारे में जागरुक किया जा रहा है।

‘कुसुम’ ने किसानों के जीवन में किया बदलाव! आय ‘डबल’ करने की पक्की गारंटी!

सितंबर में इन फसलों की कर सकते हैं बुवाई और देखभाल

मक्का: जून में बीजी गई मक्की की सितंबर माह के अंत में कटाई करें। मक्का को रोगों से बचाव के लिए जाईनेब या मैन्काजेब की 600 ग्राम मात्रा को 200 लीटर पानी में मिलाकर प्रति एकड़ फसल पर छिड़काव करें।

बरसीम: सितंबर माह के आखिरी सप्ताह में बरसीम की बिजाई शुरू कर दें। बिजाई के लिए केवल बरसीम की सिफारिशशुदा किस्मों जैसे मैस्कावी हिसार बरसीम-1, हिसार बरसीम-2, के शुद्ध बीजों को प्रयोग में लाएं।

चना: फसल की बिजाई के लिए बीज का अभी से प्रबंध करें। बारानी क्षेत्रों में चने की बिजाई के लिए वर्षा के पानी को एकत्रित करने के लिए इस माह खेत की जुताई करें ताकि खरपतवार निकल जाएं।

मूंगफली: जिन क्षेत्रों में 50 से 70 सेमी. वर्षा होती है वहां दो से तीन सिंचाई काफी है। पहली फूल आने तथा दूसरी सिंचाई जरूरत अनुसार फल बनने के दौरान करें।


Spread Your News
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.