जानिए अगर सांप या बिच्छू काट ले तो प्राथमिक इलाज में हमें क्या करना चाहिए

Spread Your News

मॉनसून में अक्सर सांप, बिच्छू या कीड़े-मकोड़े सक्रिय हो जाते हैं. सड़कों, गली कूचों, घर के कोनों में अक्सर कीड़े-मकोड़े, बिच्छू, सांप या अन्य जीव जंतु मिल ही जाते हैं. कई बार तो लोग इसका शिकार भी हुए हैं. तो कई बार सही इलाज न पता होने के कारण अपनी जान भी गवाई है. ऐसे हालातों में हमें जान लेना चाहिए कि सांप या बिच्छू के काटने से हमें क्या प्राथमिक उपचार में करना चाहिए. जिससे उनसे पहुंचा जहर हमारे शरीर को ज्यादा नुकसान ना पहुंचा सके. तो आइए जानते हैं प्राथमिक उपचार.

सांप के काटने पर क्या करना चाहिए

सांप के काटने पर फौरन डॉक्टरी चिकित्सा करवानी चाहिए. यदि वह समय पर न हो तो पीपल के 2 पत्ते तोड़कर उनकी डंडी को मरीज के कानों में घुसा दें. कुछ ही देर में जहर उतर जाएगा.

जिस भी व्यक्ति को सांप ने कांटा है, उसी व्यक्ति के मूत्र को प्रथम बार में पाव भर फिर हर 1 घंटे बाद आधा पाव पिला देना चाहिए. रोगी निश्चित रूप से स्वस्थ हो जाएगा.

2 तोला प्याज का रस और 2 तोला सरसों का तेल मिलाकर पीड़ित को पिला दें. यह एक खुराक है इसे हर 15 मिनट बाद दें. 4-5 खुराक से ही सांप का जहर उल्टी द्वारा निकल जाएगा.

बिच्छू के काटे जाने पर क्या करना चाहिए

अगर बिच्छू ने काटा है तो नमक को मक्खन में मिलाकर बिच्छू के काटे स्थान पर लगाने से पहले थोड़ा सा मामूली ब्लेड से कट लगाएं और उस पर लेप लगा दें. फिर उसके ऊपर से सिकाई करें. 2 मिनट बाद ही दर्द ठीक हो जाएगा और जहर भी उतर जाएगा.

1 ग्राम साबुत सेंधा नमक लेकर दो ग्राम पानी में धो लें. जिस तरफ बिच्छू ने काटा हो उसी को दूसरी तरफ कान में कुछ बूंदे इस पानी की डालें. बाकी पानी में पट्टी भिकोकर डंक पर रख दें. इससे बहुत जल्दी आराम मिल जाता है.

इन सभी नुस्खों को करने से जरूर भी जल्दी आराम मिल सकता है. नुस्खों को करने से ज्यादा नुस्खों को जानना जरूरी है, क्योंकि जीवन में हमें किसी भी परिस्थिति का सामना करना पड़ सकता है. हमें हमेशा हर परिस्थिति के लिए तैयार रहना चाहिए.


Spread Your News
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.