पद्मा मयूरासन: जानिए आसन करने की विधि, लाभ और सावधानियां

Spread Your News

न्यूजएजेंडा24.कॉम हेल्थ ब्यूरो (अमित योगाचार्य)। पद्मा मयूरासन करने की विधि और लाभ–

क्या होता है #पद्मा मयूरासन? ‘पद्मा’ का अर्थ ‘कमल’ और ‘मयूर’ को हम ‘मोर’ बोलते हैं। इस आसन को ‘मोर मुद्रा’ में किया जाता है। पद्मा मयूरासन हमारी शारीरिक शक्ति के लिए बहुत ही फायदेमंद माना जाता है। यह आसन मयूरासन की तुलना में आसान होता है।

#पद्मा मयूरासन कैसे करते हैं ? इस आसन को सुबह करने से बहुत ही फायदा मिलता है। देखा जाए, तो हर आसन को सुबह ही करना चाहिए।

मलाइका ने फोटोशूट के दौरान पहने अजीब कपड़े, लेकिन पोज दिए काफी कातिल, देखें तस्वीरें

कैसे करें  #पद्मा मयूरासन ?

  1. इसको करने के लिए सबसे पहले खुली हवा में दरी या चटाई को बिछा लें ।
  2. फिर उस पर घुटनों के बल बैठ जाएं ।
  3. अब आगे की तरफ झुक जाइये।
  4. अपने हाथों की कोहनी को मोड़कर अपनी नाभि पर जमा लें।
  5. अब फिर थोड़ा आगे की झुकें और अपना संतुलन को बनाएं।
  6. अपने घुटनों को सीधा करें।
  7. जब आप के पैर सीधे हो जाए तो हवा में उठाने की कोशिश करें ।
  8. कम से कम पांच मिनट तक इस पोज में बने रहें ।
  9. अब धीरे-धीरे करके अपनी पुरानी अवस्था में आ जाएं ।
पद्म मयूरासन करते ध्यान समर्पण अमित योगाचार्य

यह शुरू में थोड़ा कठिन होगा, लेकिन जब आप इसका अभ्यास करोगें तब यह आपको आ जाएगा ।

#पद्मा मयूरासन के फायदे

  1. इस आसन के द्वारा आपकी किडनी मजबूत होती है ।
  2. लीवर को फायदा होता है।
  3. चेहरा खिल जाता है।
  4. कंधों ओर हाथों की मांसपेशियां मजबूत होती है।
  5. कब्ज के लिए यह बहुत ही फायदेमंद होता है।
  6. जो मधुमेह के रोगी होते हैं उनके लिए यह आसन बहुत ही फायदेमंद होता है ।
  7. आँखों की समस्या दूर हो जाती है।
  8. पाचन क्रिया मजबूत हो जाती है।
  9. मसल्स को ताकत मिलती है।
  10. मूत्राशय और आमाशय के दोष का निवारण होता है।
  11. लड़कियों की शर्ट में जेब इसलिए नहीं होती ? क्योंकि इससे…?

#पद्मा मयूरासन की सावधानियां

इसको शुरू करने में बहुत ही सावधानी की आवश्कता होती है, इसके शुरू में संतुलन नहीं बनेगा। शुरू में आप इसे अधिक समय तक नहीं कर पाएंगे। अधिक से अधिक आप इसे एक मिनट तक ही कर सकते हो।

किसे नहीं करना चाहिए?

  1. अगर आपको हाई ब्लड प्रेशर है तब आपको इससे दूरी बनाकर रखनी चाहिए।
  2. हर्निया की समस्या हो तब इस आसन को नहीं करना चाहिए।
  3. ह्रदय संबंधी रोग होने पर नहीं करना चाहिए।

 

NOTE: दिन की बेहतर शुरूआत के लिए जरूरी है कि पिछली रोज की टेंशन को भूल जाएं। तभी आप नई चुनौतियों और परफॉर्मेंस के लिए तैयार हो पाएंगे। सभी प्रकार के आसन का अभ्यास और प्रदर्शन योगा शिक्षक के सामने करें। ज्यादा जानकारी के लिए ध्यान समर्पण +919999872980 पर संपर्क करें। आप इंस्टाग्राम पर https://www.instagram.com/01yogatravel/ भी फॉलो कर सकते हैं।


Spread Your News
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.