Guest teachers के समर्थन में अब ‘कौन’ उतरा? क्या झुकेगा जाट कॉलेज का ‘प्रशासन’?

Spread Your News

NEWSAGENDA24, HISAR DESK

हिसार में चल रहे जाट कॉलेज (Jat College) के बाहर धरने को अब किसानों ने भी खुलकर समर्थन दे दिया है। किसानों के साथ बाकी संगठन भी इन 112 गेस्ट टीचर्स (Guest Teachers) के समर्थन में आ गए है। छाजू राम मैमोरियल जाट कालेज (Chaju Ram Memorial Jat College) में सहायक प्रोफेसर (Assistant Professor) को हटाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। वहीं कुछ महिला लेक्चरर्स भी रात भर धरना स्थल पर बैठ रही है।

वहीं किसानों ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर गेस्ट टीचर्स (Guest Teachers) को नौकरी (job) पर रखा नहीं गया तो हरियाणा के किसान संगठन बैठकें करके सभी 22 टोल बंद कर देंगे। वहीं महिला गेस्ट टीचर्स का कहना है कि उनके साथ अत्याचार किया गया है, यहा करीब 90 महिला टीचर (Female Teachers) है जो यहां पर धरने पर बैठी हुई है।

हालांकि जाट कॉलेज (Jaat College) की प्राचार्य (Principal) नीलम सिंह ने कहा कि छाजू राम मैमोरियल जाट कॉलेज (Chajju Ram Memorial Jaat College) काफी लोस (loss) में चल रहा है। संस्थान में सरकार की ओर से 48 पोस्ट (post) नहीं भरी है और न ही प्राचार्य की पोस्ट (post) भरी है। अगर पोस्ट (post) भरी होती उनको सरकार से वेतन मिल सकता था, लेकिन गेस्ट टीचर्स (Guest Teachers) का वेतन संस्थान खुद वहन कर रहा था, जिसके कारण खर्चे बढ़ रहे थे, शिक्षण संस्थान का खर्चा बहुत ज्यादा है लेकिन आमदनी नहीं है। आगे उन्होंने कहा कि गेस्ट टीचर्स (Guest Teachers) को ऑफ किया गया है, इससे पहले 3 अगस्त 2021 से 30 सितंबर 2021 तक भी ऑफ किया गया था।

वहीं जाट एकता मंच के उपाध्यक्ष किसान नेता बलराज सिंह ने कहा कि प्रशासन को इस समस्या का हल करना पड़ेगा और जरुरत पड़ी तो हरियाणा के किसान और जाट समाज के लिए लोग यहां इनके समर्थन में पहुचेंगे। वहीं किसान नेता विकास सीसर ने कहा कि किसानों ने 112 टीचरो को समर्थन दिया है। ये जाट शिक्षण संस्थान को बदमाम करने की कोशिश है। सरकार से मांग है कि तुरत प्रभाव से इन्हें नौकरी पर रखा जाए।

अब देखना होगा कि जाट शिक्षण संस्थान इस पूरे मामले में क्या एक्शन लेता है या फिर सरकार की तरफ से कोई आदेश दिया जाता है। हालांकि इस मामले में अब गेस्ट टीचर्स पूरी तरह से अड़ गए है और किसानों से मिले समर्थन ने अब इनकी मांग को और मजबूत कर दिया है।

Ratan Tata को भा गई electric लखटकिया, फिर पढ़िए क्या हुआ


Spread Your News
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.