अभय त्रिपाठी का कॉलम: उर्जा का स्त्रोत गोवंश

एक अनुमान के अनुसार भारत के देहाती क्षेत्रों में बैलों द्वारा उपलब्ध कराई जा रही ऊर्जा लगभग 40 हजार मेगावाट के बराबर है। इसके बावजूद पशुओं की नस्ल-सुधार की वर्तमान … Read More