दहिया खाप की जुबान पर क्यों लग गया ताला, आश्रम-3 वेब सीरज में हुआ अपमान, फिर भी सब चुप

Spread Your News

NewsAgenda24, Desk

दहिया खाप के चर्चे हमेशा बहादुरी को लेकर रहे हैं लेकिन अब ये खाप मौन धरे हुए है जब आश्रम 3 वेब सीरज में दहिया शब्द का नकारात्मक तरीके से इस्तेमाल किया गया। सवालों के घेरे मे आई इस सीरीज में क्या वाकई दहिया खाप के बारे में जो दिखाया गया है वो सच है। ऐसे में मानुभाव लोग जो अपनी खाप के लिए मर मिटने के लिए तैयार होते थे वो अधमरे दिखाई दे रहे हैं।

आपको बता दें कि इस ऐप की ओर से एक फिल्म आई थी जिसका नाम दिया गया था दहिया वर्सेस मलिक नाम काफी बवाल हुआ बवाल इस कदर हुआ था कि फिल्म का नाम बदलना पड़ेगा स्टेज अपने एक नोटिफिकेशन जारी करके यह कहा था कि हम इस फिल्म का नाम गौरव की स्वीटी कर रहे है।

लेकिन आज जिस तरीके से आश्रम 3 की जो वेब सीरीज आई है उसमें दहिया खाप का नाम गंदे तरीके से इस्तेमाल किया गया है।

सीरीज में इतने गलत तरीके से दहिया शब्द का प्रयोग होना कहीं ना कहीं खाप के उन लोगों को चुनौती देने जैसा है जो नियम कायदों और बहादुरी की बड़ी-बड़ी ढींगे हांकते हैं।

आपने आश्रम 3 की हिरोईन ईशा गुप्ता की ये तस्वीरें कभी नहीं देखी होंगी, टोपलेस होकर खिंचवाई हैं फोटोस

दरअसल, आश्रम 3 वेब सीरज में दहिया नाम का प्रयोग एक ऐसी लड़की के लिए किया गया है जो दुष्कर्म का शिकार होती है। लेकिन परिवार कुछ करने की बजाय चुप बैठा रहता है। ऐसे में सवाल ये उठता है कि क्या दहिया खाप की छवि समाज में इतनी कमजोर है। जो अपनी आवाज उठाने से डरता है।

गौरतलब है कि दहिया खाप का जिक्र हमेशा ही लोगों की भलाई, कमजोरों की आवाज बनने के लिए किया जाता रहा है और अपनी खाप की इज्जत के खातिर कई लोगों ने बलिदान भी दिए हैं। लेकिन अब आश्रम 3 वेब सीरीज में खाप को कमजोर, बेजुबान दिखाना वाकई हैरान करता है।

निर्माताओं के खिलाफ अभी तक खाप कोई भी सदस्य नींद से नहीं जागा है। ऐसे में समाज की दृष्टि में दहिया खाप एक कमजोर वर्ग की छवि स्थापित कर रही है।

फिलहाल, शूरवीरों की इस खाप का कोई सदस्य कब जागता है और अपने आपको नीडर व जीवत महसूस कराता है ये तो आने वाले दिनों में देखने को मिलेगा।


Spread Your News
Advertisements

One thought on “दहिया खाप की जुबान पर क्यों लग गया ताला, आश्रम-3 वेब सीरज में हुआ अपमान, फिर भी सब चुप

Leave a Reply

Your email address will not be published.