नारी पुरुषों के कन्धे से कन्धा मिलाकर कर रही है काम, बहादुरगढ़ के गांव खेड़का गुज्जर में चेयरपर्सन नीलम अहलावत नें किया किसान महिलाओं से सीधा संवाद

Spread Your News

NewsAgenda24, NEWS DESK

बहादुरगढ़, जगदीप राज्याण। दी झज्जर केन्द्रीय सहकारी बैंक लि. की चेयरपर्सन एवं जिला केन्द्रीय सहकारी बैंक चेयरमैन एसोशिएशन हरियाणा की प्रधान नीलम अहलावत ने बादली विधानसभा के खेड़का गुज्जर में जाकर महिलाओं के बीच में पहुंच उनको सहकारिता से जुड़नें के लाभ के विषय में अवगत करवाया एवं उनकी समस्या सुनीं।

चेयरपर्सन नीलम अहलावत ने ग्रामीण महिलाओं के मध्य अपनी बात रखते हुए कहा कि भारत कृषि प्रधान देश है और इसकी नींव किसानों के परिश्रम पर टिकी हुई है किसान मेहनत करते खेत में बीजारोपण करता है तब अनाज उगता है जब पूरे देश का पेट भरता है।

आज देश व प्रदेश की सरकार नें किसानों के उत्थान के लिए अनेक योजनाएं चला रखीं है उन योजनाओं के बारे में सभी को विस्तारपूर्वक बताते हुए कहा कि आज का किसान पढ़ा-लिखा है इसलिए किसान फूल व सब्जियों की खेती करके ज्यादा मुनाफा कमा सकता है महिलाएं आज खेती के कार्य में पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर कार्य कर रहीं हैं। सहकारी बैंक नें किसानों की वित्तीय मदद के लिए हमेशा अग्रणी भुमिका निभाई हो चाहे खाद-बीज का विषय हो या कृषि यंत्रों के लिए व कृषि के लिए ऋण देने की बात हो।

बेटियां चूल्हा-चौका तक नही रहीं सीमित, हर क्षेत्र में निभा रहीं अग्रणी भूमिका, नीलम अहलावत ने गांव मुनिमपुर में पहुंचकर महिलाओं से सहकारिता से जुड़ने का किया आह्वान

अब नाबार्ड के सौजन्य से केन्द्रीय सहकारी बैंक के द्वारा ज्वाइंट लाईबिलिटी ग्रुप तैयार किए जाएंगें जिसमें एक गु्रप में 4 से 10 महिलाएं होंगीं ग्रुप की प्रत्येक महिला को कृषि के लिए 50000 तक का ऋण उपलब्ध करवाया जाएगा जिससे किसान व महिलाएं आत्मनिर्भर बनने की ओर अग्रसर होंगी। केन्द्रीय सहकारी बैंक द्वारा पैक्सों के माध्यम जो किसान भाईयों को ऋण उपलब्ध करवा रखा है उस पर 0 प्रतिशत ब्याज है। आजादी के 75 वें अमृत महोत्सव के अवसर पर हरियाणा सरकार द्वारा सहकारी बैंकों से जिन्होंने सीधे तौर पर ऋण ले रखा था और वो किसी कारण से भरने में असमर्थ रहे थे जिसके कारण वे डिफॉल्टर हो गए थे उनके लिए केवल 6 प्रतिशत ब्याज सहित एकमुश्त अदा करके योजना का लाभ उठाएं।

 

इस अवसर पर बेबी, दीप्ती, मीनू, नीरज, कोमल, रुबी, ज्योति, सरोजबाला, मोनी, एकता, चन्द्रों, राजबाला, चन्द्रमुखी, सुमन, ओमपति, निर्मला, सुनीता, पुष्पा, पूजा, बंटी, सुनिता, कृष्णा, राजेश देवी, गीता, प्रकाश धनखड़ जिला संयोजक एन.जी.ओ. प्रकोष्ट, एस.एन. कौशिक लेखाकार, रामनिवाश ठौलेदार, शेखर, जसबीर मैम्बर, महावीर मैम्बर, रणबीर एवं वीरभान, सहित सैकड़ों ग्रामीण उपस्थित रहे।


Spread Your News
Advertisements

One thought on “नारी पुरुषों के कन्धे से कन्धा मिलाकर कर रही है काम, बहादुरगढ़ के गांव खेड़का गुज्जर में चेयरपर्सन नीलम अहलावत नें किया किसान महिलाओं से सीधा संवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published.